डॉन दाऊद इब्राहिम को कौन नही जानता है उसके काले कारनामों की वजह से आज उसे दुनियाभर में छुप-छुपा कर जीना पड़ रहा है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे घटना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जायेंगे. इस घटना का खुलासा भी एक ऐसे शख्स ने किया है जिसे डी कम्पनी का ही आदमी बताया जाता है. तो आइये हम आपको इस घटना के बारे में बताते हैं.

Source

आपको बता दें कि दाऊद के गुर्गे की पत्नी का सम्बन्ध किसी और के साथ चल रहा था जिसके बाद दोनों को उसने रंगे हाथों पकड़ लिया था. जिसके लिए उसने पत्नी के साथ अवैध सम्बन्ध रखने वाले को जो सजा दी उसका खुलासा उस व्यक्ति ने खुद किया है. दरअसल मुंबई में एक महिला व्‍यवसायी शबनम शेख को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के नाम पर रंगदारी मांगने के आरोप में पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गये हरीश कुमार यादव और बिलाल कुचुबुद्धिन शमसी के  मामले में एक नया मोड़ आ गया है.

Source

पूछताछ में हरीश ने बताया कि उसके द्वारा जितनी भी फ़ोन कॉल की गयी हैं और उसमें दाऊद का गुर्गा बताया गया है वो उसने ललित नाम के एक व्यक्ति के कहने पर किया था. ललित दाऊद इब्राहिम का गुर्गा माना जाता है.ललित की पत्नी के साथ हरीश के अवैध संबध थे. जिसे उसने रंगे हाथो पकड़ लिया था.

Source

जिसका बदला लेने के लिए उसने ये साजिश रची थी. बता दें कि ललित साल 2000 में मकोका के तहत गिरफ्तार किया जा चुका था. वो बेल पर बाहर है और फिलहाल फरार है. नवम्बर में शबनम ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें उन्होंने पुलिस को बताया था कि उसे उस्‍मान चौधरी नाम के व्‍यक्ति ने फोन किया और एक करोड़ की फिरौत की मांग की. फिरौती मांगने वाले शख्स ने खुद कराची में रहने वाला बताया. फोन से बार-बार धमकी दी गई. शबनम शेख का गारमेंट का बिजनेस है और वो एक एनजीओ भी चलाती हैं.